New-moral-stories-in-hindi

New moral stories in hindi

हमारे इस नए पोस्ट में आपका स्वागत है| इस पोस्ट पर हमने कुछ नई कहानियां चुनकर लिखीं है| हम आशा करते हैं कि आपको हमारा नया पोस्ट(New Moral Stories in Hindi) जरुर पसंद आएगा| हमारी कहानियों को पढ़कर आप या आपके बच्चों को कुछ नया जरुर सिखने को मिलेगा|

अगर आपको हमारा पोस्ट पसंद आए तो अपने दोस्तों और परिवार वालों को जरुर शेयर करें|

New Moral Stories in Hindi

बोले हुए शब्द वापस नहीं आते 

moral-stories-in-hindi-with-pictures
बोले हुए शब्द वापस नही आते

एक बार एक गाँव मे किसान रहता था। वह बहुत अच्छा आदमी था।

एक दिन उसने अपने  पडोसी को भला बुरा कह दिया,

पर जब उसे अपनी गलती का एहसास हुआ तो वह एक साधु के पास गया|

उसने साधु से अपने शब्द वापस लेने का उपाय पूछा|

साधु ने किसान से कहा की  तुम खूब सारे पत्ते इकठ्ठा कर लो ,

और उन्हें अपने खेत के बीचो-बिच मे रख दो।….

Moral Stories in Hindi for Class 9

….किसान ने ऐसा ही किया और फिर साधु के पास वापस आगया। 

तब साधु ने कहा की अब जाओ और उन पत्तों को इकठ्ठा कर के वापस ले आओ। 

किसान वापस गया पर तब तक सारे पत्ते हवा से इधर-उधर उड़ चुके थे,

और किसान खाली हाथ साधु के पास गया। 

साधु ने उससे कहा कि ठीक इसी तरह हम सब के द्वारा कहे गए शब्दों के साथ होता है,

तुम आसानी से इन शब्दों को अपने मुख से निकाल तो सकते हो,  पर चाह कर भी वापस नहीं ले सकते.

 

सिख – हमें किसीको कड़वा बोलने से पहले ये याद रखना की किसी को भला-बुरा कहने के बाद  शब्द वापस नहीं लिए जा सकते।

 

Moral Stories in Hindi with Pictures

साधू और चूहा

moral-stories-in-hindi-with-pictures
साधू और चूहा

एक गाँव के मंदिर में एक साधू रहता था| वह रोज़ लोगों की सेवा करता था’

और भिक्षा मांगकर जो कुछ मिलता वो उसे ही खाकर अपना जीवन व्यतीत करता था|

उस मंदिर में एक चूहा भी रहता था| चूहा अक्सर साधू का अन्न चुरा कर खा लेता था|

उसने से चूहे को हमेशा मार कर भागाने  की कोशिश की पर चूहा बार बार वापस आजाता था|

उस चूहे को उसने पकड़ने की कोशिश की पर वह हमेशा असफल हो जाता था|

साधू परेशान होकर अपने एक दोस्त के पास गया|

उसके दोस्त ने बताया की चूहे ने मंदिर में एक बिल बनाया होगा|

जहाँ वह अपना सारा खाना छुपता होगा,….

New Moral Stories in Hindi

हमें उस चूहे के बिल को धुंध कर उसका सारा खाना निकलना होगा|

और फिर खाना ना मिलने के कारन चूहा कमज़ोर हो जाएगा|

साधू और उसके दोस्त ने मंदिर में बिल ढूँढना शुरू कर दिया|

साधू को चूहे का बिल आखिर कार मिल ही गया,

उसने बिल मेसे सारा खाना निकल लिया जो चूहे ने चुपके रखा था|

चूहा अब कमज़ोर होगया था, और साधु ने उसे मंदिर से भगा दिया|

सिख – अपने दुश्मन को हराने के लिए पाहिले उसकी शक्ति को ख़तम करो,

दुश्मन स्वयं ही ख़तम हो जएगा|

New Moral Stories in Hindi

मुश्किलों से सीखें

stories-for-class-4
मुश्किलों से सीखें

एक दिन एक व्यापारी अपने गधे को शहर से लेकर अपने घर की ओर जारहा था|

गलती से गधे का पैर फिसला और वो एक गहरे गड्ढे में जागीरा |

उसको गड्ढे से निकलने के लिए उसके मालिक ने बहुत प्रयास किया परन्तु वह असफल होगया|

फिर उस व्यापारी ने सोचा की अब मै इसे नही निकल सकता हूँ,

तो उसने उस गधे को गड्ढे में जिंदा दफ़नाने का सोचा|….

Moral Stories in Hindi for Class 10

….गधे के मालिक ने गड्ढे में मिटटी डालना शुरू कर दिया|

गड्ढे में अधिक मिटटी डालने के बाद व्यापारी अपने घर चला गया|

अधिक मिटटी डालने के कारन गधे की बहुत मदद हो गई|

गधा मिटटी पे अपना पैर धीरे धीरे रख कर गड्ढे से जिंदा बहार निकल गया|

अगले दिन जब व्यपारी सुबह उठा तो उसने देखा की उसका गधा उसके घर के बहार ही खड़ा है|

यह देखकर व्यपारी बहुत खुश हुआ|

 

सिख – “हमें अपने कठिन वक़्त का सामना हस कर करना चाहिए “|

 

Moral Stories in Hindi for Class 5

चार मित्र और शिकारी

moral-stories-in-hindi-for-class-5
चार मित्र और शिकारी

एक जंगल मे चार मित्र रहते थे। हिरन, कव्वा , कछुआ और चूहे की बहुत  गहरी मित्रता थी|

एक बार जंगल में एक बहुत ख़तरनाक शिकारी आया और उसने अपने जाल मे हिरन को फंसा लिया|

हिरन ने बहुत प्रयास किया जाल से निकलने की पर वो असफल रहा।

उसे लगा कि आज उसकी मृत्यु निश्चित है| इस डर से वह बहुत घबरा गया था|

तभी उसके मित्र  कव्वे ने हिरन को जाल मे फसा हुआ देखा।….

New Moral Stories in Hindi

….तो उसने कछुवे और चूहे को भी हिरन की सहायता के लिए बुला लिया|

कव्वे ने शिकारी का ध्यान अपनी तरफ खींचा।

जैसे ही चूहे को मौका मिला उसने जाल को कुताना शुरू कर दिया। 

तभी कछुवा शिकारी के सामने से गुजरा| शिकारी ने सोचा हिरन को तो फसा लिया गया है।

क्यूँना कछुवे को भी पकड़ लूँ। यही सोचकर वह कछुवे के पीछे पीछे चलने लगा|

इधर चूहे ने हिरन का सारा जाल काट डाला और उसे आजाद कर दिया|

शिकारी कछुवे के पीछे- पीछे जा ही रहा था, कि तभी कव्वा उड़ता हुआ आया,

और कछुवे  को अपनी चौंच में दबाकर उड़ा कर भाग गया|

इस तरह सभी मित्रों ने मिलकर एक दूसरे की जान बचाली। 

 

सिख – साथ मिलकर कठिन से कठिन काम को भी सरल बनाया जा सकता है।

 

Moral Stories in Hindi for Class 3

लालची कुत्ता

short-hindi-story
लालची कुत्ता

एक गाँव में एक कुत्ता रहता था, वह बहुत लालची था।

एक दिन वह  वह भोजन की खोज में इधर – उधर भटक रहा था।

लेकिन कही भी उसे भोजन नहीं मिला। अंत में उसे एक घर के बाहर रोटी पड़ा मिला।

कुत्ता रोटी को देख कर बहुत खुश हुआ और उसे अकेले में बैठकर खाना चाहता था।

इसलिए वह रोटी को लेकर जंगल की तरफ भाग गया। …

Moral Stories in Hindi for Class 3

…सुनसान जगह की खोज करते – करते वह एक नदी के किनारे पहुँच गया।

अचानक उसने नदी मे अपनी ही परछाई को देखा। उसे लगा की नदी मे कोई और कुत्ता है,

जिसके मुँह मे एक और रोटी का टुकड़ा है। 

उसने सोचा क्यों न इस कुत्ते का भी रोटी छिन् लिया जाये,

इतना सोचते ही वह अपनी ही परछाई पर जोर से भौंका,

भौंकने के कारण उसका अपना ही रोटी नदी मे गिर गया।

अब वह अपना भी रोटी खो चूका था।

उसे अपनी इस हरकत पर बहुत निराशा हुई और वह मुँह लटकते हुए गाँव की ओर वापस चला गया। 

 

सिख – हमें कभी भी लालच  नहीं करना चाहिए। लालच करने से कोई भी खुश नहीं रह सकता है। 

इस पोस्ट में हमने नई प्रेरणादायक कहानियों को लिखा है| अगर आपको हमारा ये पोस्ट पढ़कर अच्चा लगे तो इसे शेयर जरुर करें|

हमारी कहानियों को पढ़कर अगर आपके मन में कोई विचार आए तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरुर लिखकर बताए|

हमें इन सभी पोस्ट को भी जरुर पढ़ें

Leave a Comment